यदि सजा का सफर लम्बा हो, न्याय मिलने में देरी हो तो वह बेगुनाह के साथ न्याय नहीं: राज्यपाल

Uttarakhand

देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) से राजभवन में पीटीसी नरेन्द्रनगर में प्रशिक्षणरत 53 सहायक अभियोजन अधिकारियों ने मुलाकात की। इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि आप अपराध से पीड़ित व्यक्ति को न्याय दिलाने हेतु पूरी लगन एवं तत्परता से कार्य कर अपने दायित्वों को निभाएं। उन्होंने कहा कि अपराधी या दोषी को समय से उचित दण्ड मिले, इस हेतु आप संकल्प एवं निष्ठा से कार्य करें।

उन्होंने कहा कि बेगुनाह, अपराध से पीड़ित महिला, बच्चियों, बेटी, गरीब या असहाय को समय से न्याय मिले, इस हेतु आप समर्पण भाव से कार्य करें, इनसे जुड़े मामलों में संवेदनशीलता और ईमानदारी से काम करें। यदि सजा का सफर लम्बा हो, न्याय मिलने में देरी हो तो वह बेगुनाह के साथ न्याय नहीं है। राज्यपाल ने कहा कि अभियोजन के कार्य में चुनौतियां बहुत हैं, लेकिन यह क्षेत्र आपने स्वयं चुना है, इसलिए संकल्प लें कि समर्पण भाव से कार्य करें। आपने अपने काम में तेजी एवं गुणवत्ता लानी है तो आप तकनीक का प्रयोग करेंगे तो आपके कार्य में गुणवत्ता के साथ ही तेजी भी आएगी। आज, साइबर क्राइम, वित्तीय फ्रॉड में तेजी आ रही है, इसमें आपको समय के साथ तेजी से चलने, डाटा मैनेजमेंट और एआई तकनीक का प्रयोग सीखना जरूरी है। उन्होंने कहा कि अपने क्षेत्र में एक्सपर्ट बनों, लगन से कार्य करो, मिशन बनाकर कार्य करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *